वाटर पोर्टल / वर्षाजल संचयन

From Akvopedia
Jump to: navigation, search
English Français Español भारत മലയാളം தமிழ் Swahili 한국어 中國 Indonesia Japanese
RAIN logo.jpg
Akvopedia logo.png

वर्षाजल संचयन बारिश के पानी के प्राकृतिक तालाब या टंकियों में संग्रहण और भंडारण की एक तकनीक है, साथ ही इसके जरिये भूमिगत जलवाही स्तरों का भी पुनर्भरण किया जाता है (इससे पहले कि यह सतह से सूख जाये). रूफटॉप हारवेस्टिंग वर्षाजल संचयन का एक तरीका है. रूफटॉप हारवेस्टिंग में टाइल, धातु या प्लास्टिक की छत उपयोगी हो सकती है, मगर घास या खजूर या फूस की छत नहीं. यह बारिश के बहाव को रोक देता है और घरेलू इस्तेमाल के लिए उच्च गुणवत्ता वाला पेयजल उपलब्ध कराता है और इसे साल भर के लिए भंडारित किया जा सकता है. इस पानी के दूसरे इस्तेमाल भी हो सकते हैं, जैसे बगीचे के लिए, पालतू पशुओं के लिए, सिंचाई के लिए, आदि.

वर्षाजल संचयन के उपयोग के कारण इन तीन सवालों पर आधारित हैं:

क्या: वर्षाजल संचयन से जलापूर्ति और फसल उत्पादन बेहतर होगा और अंततः खाद्य सुरक्षा असरदार होगी.

कौन: ग्रामीण इलाकों में जल संकट वाले मकान या परिवार वर्षाजल संचयन के इस तंत्र से सर्वाधिक लाभान्वित होंगे.

कैसे: चूंकि वर्षाजल संचयन जलापूर्ति को बढ़ावा देता है और यह हमें खाद्य सुरक्षा की तरफ ले जाता है, यह जीविकोपार्जन की दिशा में भी बड़ी भागीदारी सुनिश्चित करता है.

वर्षाजल संचयन टूल्स - प्रोजेक्ट की योजना बनाते समय लागू होने वाली आसान पद्धतियां
WUMP photo small.jpg
Nepal micro small.jpg
RWH barrel.jpg
Samsam image.png
तीन आर (रिचार्ज,
रिटेंशन और रियूज)
वाणिज्य विकास -
सूक्ष्म वित्तीय
बहुउपयोगी
सेवा (एमयूएस)
सैमसैम
रेनवाटर हार्वेस्टिंग टूल
Rain is gain small.png
Gis small.png
Wash sustain small.png
रेन इज गेन टूल
वर्षाजल संचयन
जीआइएस मैप
वाश पर्यावरण
निरंतरता आकलन


वर्षाजल संचयन तकनीकें - तकनीकी निर्माण विवरण,लागत,और उपयुक्तता
Rainwater harvesting small.jpg
In situ2 small.jpg
Catchment dam small.jpg
भूजल पुनर्भरण
Fog collection small.jpg
छत-वर्षाजल
यथास्थान
वर्षाजल संचयन
सतही जल
भूजल
पुनर्भरण
कोहरा और ओस


वर्षाजल संचयन नवोन्मेष - दृष्टिकोण, तकनीकें, 3आर, एमयूएस और स्थाई वित्त संबंधी परियोजनाएं और उनके प्रयोग
Salyan small.jpg
Salyan 2 small.jpg
Kajiado tank small.jpg
Rwambu spring small.jpg
Rwambu project small.jpg
साल्यान और दाईलेख,
नेपाल
जिला साल्यान,
नेपाल
कजियादो, केन्या -
3आर और एमयूएस
रवांबू, यूगांडा -
निर्मलजल पुनर्जीवन
रवांबू
यूगांडा पहाड़ियां


भारत में वर्षाजल संचयन के उदाहरण

मइलापोर में मंदिर में बना एक तालाब, चेन्नई, भारत

तमिलनाडु पहला भारतीय राज्य है जहां वर्षाजल संचयन को अनिवार्य बनाया गया है. 30 मई, 2014 को राज्य सरकार ने घोषणा की कि वह चेन्नई शहर के विभिन्न हिस्सों में 50 हजार से वर्षाजल संचयन ढांचे का निर्माण करायेगी. [1]

तमिलनाडु के चार हजार से अधिक मंदिरों में तालाब हैं जो विभिन्न कर्मकांडों के लिए प्रयोग में लाये जाते हैं. ये तालाब प्राकृतिक जलवाही के रूप में काम करता है और भूजल संवर्धन में मददगार साबित होता है. मगर गाद और कचरे ने इन तालाबों का रास्ता बंद कर दिया है.

अब, स्वैच्छिक संस्थानों और जल वितरण व उपयोग से संबंधित विभागों द्वारा निरंतर चलाये जा रहे अभियानों के बाद चेन्नई प्रशासन ने तय किया कि वह शहर में 40 बड़े मंदिर तालाबों की मरम्मत करायेगा. तालाबों को वर्षाजल संचयन के जलग्रहण क्षेत्र में बदले का लक्ष्य है. [2]

वर्षाजल संचयन लिंक

वर्षा के गीतों का वीडियो

क्षेत्रीय अनुभव

वर्षाजल संचयन तंत्र की तकनीकें और पद्धतियाँ

उत्पाद

संस्थाएं एवं समूह

  • वर्षाजल संचयन स्रोत. 45 एनजीओ की सूची, सरकारी संस्थान और कुछ निजी कंपनियां वर्षाजल संचयन कार्यक्रमों, नीतियों और आपूर्तियों पर ध्यान केंद्रित कर रही हैं.
  • खाद्य सुरक्षा के लिये वर्षाजल: खाद्य सुरक्षा में बेहतर बढ़ोत्तरी लानेे के लिये, हमने वर्षाजल संचयन (आऱडब्लयूएच)के लिये उपयुक्त माहौल बनाया. वर्षाजल संचयन के लिये समुदाय की मदद से हम राष्टीय और प्रांतीय स्तर की संस्थाओं, नेटवर्क और पेशेवरों के ऐसे वैश्विक एकीकृत नेटवर्क के विकास को प्रोत्साहित करते हैं जो वर्षाजल संचयन के क्षेत्र में या तो काम कर रहे हैं या रूचि रखते हैं. इन सभी कार्यकर्ताओं को एक साथ लाकर और विभिन्न तरीकों से ज्ञान को साझा करके,खाद्य सुरक्षा के लिये वर्षाजल संचयन कार्यक्रम का उद्देश्य वर्षाजल संचयन कार्यक्रमों में स्थाई बदलाव लाना है.
  • डीग्रुप्स प वर्षाजल संचयन समुदाय.


सामुदायिक एक्सचेंज - वर्षाजल संचयन

नीचे दी गई छवि टैंक और सिस्टम के बारे में सर्वोत्तम प्रथाओं, समस्या निवारण और सलाह सहित वर्षाजल संचयन (आरडब्ल्यूएच) के बारे में बातचीत करने के लिए एक प्रविष्टि है। हमने वर्षाजल संचयन समुदाय से इनको स्रोत के रूप में लिया है. वर्षाजल संचयन समुदाय डीग्रुप्स पर ग्रामीण वर्षाजलापूर्ति नेटवर्क समुदाय के अंदर एक उप समिति है-जो निःशुल्क लेकिन केवल सदस्यता-प्राप्त लोगोंं का पोरम है, जहां लोग लगभग 86 देशों के 700 से भी ज्याद सदस्यों से वर्षाजल संचयन संबंधी सवाल पूछ सकते हैं. यदि वर्षाजल संचयन के संबेध में आपके भी कुछ सववाल हैं तो उनके साथ अधिक जुड़ाव के लिये आप भी उनकी वेबसाइट पर सदस्य बन सकते हैं. शुरु करने के लिये छवि पर क्लिक करें! अथवा यहाँ क्लिक करें.

Dg banner.jpg


जमीनी अनुभव

ये परियोजनाएं वर्षाजल संचयन तकनीक का उपयोग कर रहे हैं और एक्वो.ऑर्ग पर रियली सिंपल रिपोर्टिंग (आरएसआर) शुरू करने के लिए एक्वो लोगो इमेज पर क्लिक करें!


Akvorsr logo lite.png
Akvorsr logo lite.png
RSR Project 790
WASH program in Rural Bangladesh
RSR Project 427
Scale up of Sustainable Water Access
RSR Project 446
Etude technique d’avant-projet
RSR Project 158
Rainwater harvesting for Nicolas School
RSR Project 128
Safe water supply for Fayaco, Senegal
Akvorsr logo lite.png
Akvorsr logo lite.png
RSR Project 398
Rainwater Harvesting Capacity Center
RSR Project 533
Support on WASH - in Miyo woreda
RSR Project 459
Upscaling CLTS for Healthy Communities
RSR Project 456
Partnership in WASH services delivery
RSR Project 462
Northern Region WASH Programme
Akvorsr logo lite.png
Akvorsr logo lite.png
RSR Project 440
Raising awareness on rainwater harvesting
RSR Project 439
Wetland Management & Water Harvesting
RSR Project 545
Rain Water Harvesting in Nepal
RSR Project 403
Rainwater Harvesting in Kenya
RSR Project 840
Rainwater harvesting in Guinee Bissau 2

संदर्भ साभार

RAIN logo.jpg

इस पृष्ठ पर दिये गये बहुत से तरीके, तकनीकें और प्रोजेक्ट रेनवाटर हा्र्वेस्टिंग इम्प्लिमेंटेशन नेटवर्क से साभार लिये गए हैं.

रेन एक अन्तरराष्ट्रीय नेटवर्क है जिसका मुख्य उद्देश्य वर्षाजल का संग्रहण करके विकासशील देशों में समाज के गैर लाभान्वितों- महिलाओं और खासकर बच्चों को पानी मुहैया करवाना है.

दिसम्बर 2003 में सुरु होकर, रेन ने लघु- स्तर की वर्षाजल संचयन परियोजनाओं के क्रियान्वयन, स्थानीय संस्थाओं की क्षमता निर्माण और वर्षाजल संचयन पर वैश्विक स्तर पर ज्ञान के साझा करने पर ध्यान केन्द्रित किया.